निवेदन।


फ़ॉलोअर

बुधवार, 5 सितंबर 2018

1146..हर लम्हा शिक्षा देता है...


।।शुभ सवेरे।।


गुरुर्ब्रह्मा ग्रुरुर्विष्णुः गुरुर्देवो महेश्वरः । 
गुरुः साक्षात् परं ब्रह्म तस्मै श्री गुरवे नमः ॥

 भावार्थ :
गुरु ब्रह्मा है, गुरु विष्णु है, गुरु ही शंकर है; 
गुरु ही साक्षात् परब्रह्म है; उन सद्गुरु को प्रणाम



आदरणीय डॉ. सर्वपल्ली राधा कृष्णन

शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

यूँ तो वक्त का हर लम्हा शिक्षा देता हैं वास्तव में समय एवम् अनुभव भी 
हमारे प्राकृतिक शिक्षक है..

अब रुख करते है आज की खूबसूरत लिंकों के साथ.. रचनाओं के रचनकारों के नाम क्रमानुसार पढे..

आदरणीय कौशल लाल जी

आदरणीय डॉ. सुशील जोशी  जी,

आदरणीया रिंकी जी,

आदरणीय शशि गुप्ता जी और

आदरणीया जेन्नी शबनम जी..✍
📄



कुछ शोर और क्रंदन है,
शहर के कोलाहल में
ऊंची-ऊंची अट्टालिकाओं में
जंगलो की सरसराहट है।
वो चिंतित और बैचैन है
अपनी "ड्राइंग रूम" में

📄



किसी को 
लग पड़ कर 
कहीं पहुचाने 
की बात करें
रास्ते 
काम चलाऊ 
उबड़ खाबड़

 📄

जैसे मैं हूँ वैसे तुम कौन हो?
जैसे मैं हूँ वैसे तुम कौन हो?
सवाल था कुछ ऐसा
मिला जिसका जवाब 
किसी को नहीं यहाँ
सवाल भी पूछा किसने
जिसके उम्र और  सवाल में है

📄



हार के ये जीवन , प्रीत अमर कर दी
तेरे मेरे दिल का, तय था इक दिन मिलना

जैसे बहार आने पर, तय है फूल का खिलना
ओ मेरे जीवन साथी...

    यौवन की डेहरी पर अभी तो इस युगल ने ठीक से पांव भी नहीं रखा था। वे पड़ोसी थें, अतः बाली उमर में ही प्रेम पुष्प खिल उठा। बसंत समीर को कितने ही महीने लगे होंगे इस पुष्प को खिलाने में ,लेकिन समाज के ताने, प्रेम के शत्रु , कहीं आश्रय ..

📄



मत पूछो ऐसे सवाल   
जिसके जवाब से तुम अपरिचित हो   
तुम स्त्री-से नहीं   
समझ न सकोगे   
स्त्री के जवाब   ..
📄

हम-क़दम के पैंतीसवां क़दम
का विषय...
यहाँ देखिए....


📄

।।इति शम।।
धन्यवाद
पम्मी सिंह 'तृप्ति'..✍


17 टिप्‍पणियां:

  1. ब्लॉग पर आते ही शिक्षक दिवस पर मुझे भी गुरुजनों का स्मरण हो आया। सुंदर रचनाएं हैं। मेरे लेख को स्थान देने के लिये हृदय से आभार ।

    जवाब देंहटाएं
  2. सुंदर प्रस्तुति शानदार रचनाएं शिक्षा दिवस पर सभी को हार्दिक शुभकामनाएं

    जवाब देंहटाएं
  3. शिक्षक दिवस की बधाइयाँ
    एक बेहतरीन प्रस्तुति
    आदर

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर संकलन । सभी शिक्षकों को नमन ।

    जवाब देंहटाएं
  5. सुन्दर संकलन । शिक्षक दिवस की बधाइयाँ

    जवाब देंहटाएं
  6. शिक्षक दिवस पर शुभकामनाएं। सुन्दर हलचल प्रस्तुति। आभार पम्मी जी 'उलूक' की बात को भी आज के पन्ने में लाकर रखने के लिये।

    जवाब देंहटाएं
  7. परिस्थतियाँ सबसे बड़ी शिक्षिका है.

    बढिया हलचल.

    जवाब देंहटाएं
  8. वाह!!बहुत सुंदर प्रस्तुति !!

    जवाब देंहटाएं
  9. शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ भूमिका की पंक्ति बहुत अच्छी लगी।
    सभी रचनाएँ बेहद उम्दा है।
    पम्मी जी सुंदर संकलन के लिए बधाई।
    सभी रचनाकारों को हार्दिक शुभकामनाएं।

    जवाब देंहटाएं
  10. बहुत अच्छी हलचल प्रस्तुति !

    जवाब देंहटाएं
  11. बहुत सुंदर प्रस्तुति
    सभी रचनाकारों को हार्दिक शुभकामनाएं।

    जवाब देंहटाएं
  12. बहुत सुन्दर संकलन , गुरु शिष्य परम्परा का दिल से अभिवादन

    जवाब देंहटाएं
  13. बहुत सुंदर प्रस्तुति व् संकलन ...शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

    जवाब देंहटाएं
  14. शिक्षक दिवस पर गुरुजनों को सादर नमन.
    सारगर्भित भूमिका के साथ विचारणीय प्रस्तुति.
    चयनित रचनाकारों को बधाई एवं शुभकामनायें.

    जवाब देंहटाएं
  15. बहुत सही कहा पम्मी जी आपने शिक्षक गुरु कोई भी हो सकता है जहां से हम कुछ सार्थक सीख लें वहीं गुरु कि भान होता है सुंदर भूमिका और बहुत ही सुंदर प्रस्तुति सुंदर रचनाऐं सभी रचनाकारों को बधाई ।

    जवाब देंहटाएं
  16. Digital currency's popularity in 21st century is a massive story, digital currencies have captivated the world. Jaxx is one of the best platforms that allows users to trade in digital currency. Jaxx users enjoy trading in Bitcoin. The Services provided by Jaxx are commendable. But sometimes users face Bitcoin transaction errors in Jaxx. Are you also being daunted by the fact that your transactions are not being carried out in a smooth manner? Dial Jaxx helpline number to avail the services of an elite professional who is ever reliable and always available to help.

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...