निवेदन।


फ़ॉलोअर

मंगलवार, 26 जनवरी 2021

2020...बहत्तरवें गणतत्र दिवस पर शुभकामनाएँ

गणतंत्र दिवस की पावन भोर मेंं
आप सभी का स्नेहिल अभिवादन
---------


राष्ट्र बलिदानों का कर्ज़दार है 
करबद्ध नत हिय श्रद्धाहार है।
प्रथम नमन है वीर सपूतों को
जो मातृभूमि के खरे श्रृंगार हैं।

"गणतंत्र यानि एक ऐसा शासन जिसमें  निरंकुशता का अंत करके आम जनमानस के सहमति और सहयोग से जनता के सर्वांगीण विकास के लिए शासन स्थापित किया गया।"


"गणतंत्र मतलब हमारा संविधान,
हमारी सरकार हमारे अधिकार और हमारे कर्तव्य"

हम देश के नागरिकों को मिला, क्या मिल रहा, क्या खोया क्या पाया,
यह विश्लेषण कभी नहीं समाप्त होना चाहिए,
नाउम्मीदी और असंतोष से उपजा संघर्ष
ही नयी संभावनाओं की राह बनाते है
 पर आज का पावन दिन
स्वतंत्र भारत के संविधान के द्वारा
 हम नागरिकों को प्राप्त अपने 
अधिकारों एवं कर्तव्यों की
खुशियों को महसूसने का है।

आइये आज की रचनाएँ पढ़ते 
हैं-

-------

आइये आज की रचनाएँ पढ़ते हैं
सर्वप्रथम एक पवित्र वंदना
गणतंत्र महान


स्वर भर कर इतिहास सुनाता,
महापुरुषों से इसका नाता।
गौतम-गांधीदयानंद की,
प्यारी धरती भारतमाता।
यहाँ हुए हैं पैदा नानक,
रामकृष्ण-भगवान।
सारे जग से न्यारा, 
अपना है गणतंत्र महान॥


गणतंत्र दिवस पर शुभकामनाएं


न कि किसी राजा की निजी जागीर
यहाँ जनता ही निर्णायक है और स्वीकृत संविधान
के दायरे में चलाया जाता है शासन
यहाँ किसानों को भी हक है अपनी बात कहने का
युवाओं, महिलाओं को अपने स्वप्न पूर्ण करने का
जहाँ आजादी है हर नागरिक को
चुनने की अपना व्यवसाय
जहाँ हर मत समान रूप से कीमती है


काल से परे हो

विपुल विकल्प हो
अनंत उद्गार हो
अनुभूति की टंकार हो
सबकी कसौटी पर खरी हो
सापेक्ष सत्य पर अड़ी हो

गणतंत्र हमारा


संविधान  के  द्वारा  जिसका  सृजन हुआ
प्रजातंत्र की साख बचाता है गणतंत्र हमारा।
धर्म, जाति से ऊपर उठ कर चिंतन का
इक सुंदर संसार बनाता है गणतंत्र हमारा।


दलील क्या है?

हो गयी है राह पथरीली मगर ..
राह की भी राह ,ले कर देख लो 
है वही पेड़ था झूला जिधर ...
आप अब पनाह ले कर देख लो !

और चलते-चलते पढ़िए 
गणतंत्र दिवस

ओस भरी सर्दियों में जोश और ओज बढ़ा कर रक्त‎
संचार‎ तीव्र कर देते थे । एक ही ग्राउण्ड पर पहले एक छात्रा
और फिर एक माँ के रूप में जिसका बच्चा भी उसी जगह
छात्र के रूप में सहभागी बने तो मेरे जैसी मांओं के गर्व
का भाव द्विगुणित हो जाना तो बनता ही था। बैण्ड की
मधुर स्वर लहरियों पर ध्वजारोहण पर बजता राष्ट्रगान,
परेड करते एन.सी.सी.कैडेट्स ..,स्कूली बच्चे..और विभिन्न
रंगारंग कार्य‎क्रम जिनकी प्रतीक्षा सबको साल भर रहती ..
उत्सव के समापन के साथ मंत्रमुग्ध करती छवियां आँखों‎
में भरे भीड़ मानो अगले वर्ष की सर्दियों तक मानो उन्हीं
पलों के लिए प्रतीक्षा‎रत रहती । 

--------///////-------

वंदेमातरम

कल का अंक लेकर आ रही
प्रिय पम्मी दी।

#श्वेता सिन्हा


16 टिप्‍पणियां:

  1. शुभ प्रभात..
    भारतीय गणतंत्र अमर है
    बेहतरीन अंक..
    सादर शुभकामनाएं..

    जवाब देंहटाएं
  2. बहत्तरवें गणतत्र दिवस पर हार्दिक शुभकामनाएँ
    उम्दा लिंक्स चयन

    जवाब देंहटाएं
  3. राष्ट्र बलिदानों का कर्ज़दार है
    करबद्ध नत हिय श्रद्धाहार है।
    प्रथम नमन है वीर सपूतों को
    जो मातृभूमि के खरे श्रृंगार हैं।
    माँ भारती के वीर सपूतों के प्रति भावों से भरे उद्गारों के साथ गर्व की अनुभूति कराती सुंदर प्रस्तुति प्रिय श्वेता। मीना जी की रचना ने बचपन की मधुर स्मृतियों को ताज़ा कर दिया। शानदार लिखा है मीना जी ने। सभी ने गणतंत्र की शान में बहुत ही बढिया लिखा है। सभी को बधाई और शुभकामनाएं। समस्त साहित्य प्रेमी पाठक वृन्द और रचनाकारों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। राष्ट्र के लिए सभी दिन मंगलमय और शुभता भरे हों यही कामना है🙏🙏

    जवाब देंहटाएं
  4. सभी से अनुरोध है कि ब्लॉग पर इन दिनों आ रही असाधारण पाठक संख्या के लिए मार्गदर्शन करें। इन दिनों बिना कोई रचना डाले stats में बहुत बड़ी पाठक संख्या दिख रही है। ज्यादातर विदेशों विशेषकर sweden, UK USA इत्यादि से हैं। जिसे भी पता हो निवेदन हैजरूर बताएं।

    जवाब देंहटाएं
  5. देशप्रेम से ओतप्रोत तथा रोचक रचनाओं के सुन्दर संकलन के लिए बहुत आभार श्वेता जी..गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं सहित जिज्ञासा सिंह..

    जवाब देंहटाएं
  6. राष्ट्र प्रेम के भाव से सुसज्जित सुन्दर संकलन। गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। संकलन मे सम्मिलित करने हेतु हार्दिक आभार श्वेता जी ।

    जवाब देंहटाएं
  7. गणतंत्र दिवस पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं 💐💐 बेहतरीन रचना संकलन एवं प्रस्तुति

    जवाब देंहटाएं
  8. हार्दिक शुभकामानाएं
    भारतीय गणतंत्र अमर रहे
    सादर

    जवाब देंहटाएं
  9. "पांच लिंकों का आनंद" के सभी मनीषियों, साहित्यकारों, सुधी पाठकों एवं संयोजकों को गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏
    जय हिन्द ! जय भारत !
    सादर,
    डॉ. वर्षा सिंह

    जवाब देंहटाएं
  10. गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!!!

    जवाब देंहटाएं
  11. संविधान के द्वारा जिसका सृजन हुआ
    प्रजातंत्र की साख बचाता है गणतंत्र हमारा।
    शुभकामनाओं सहित
    सादर.

    जवाब देंहटाएं
  12. गणतंत्र दिवस के पावन पर्व पर आप सबों को हार्दिक शुभकामनाएँ । नई संभावनाओं की तलाश यूँ ही चलती रहे और हम सभी सहभागी बनें । आभार ।

    जवाब देंहटाएं
  13. श्वेता सिन्हा जी,
    मेरी रचना 'पांच लिंकों का आनंद'में शामिल करने के लिए हार्दिक आभार!!!

    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं 🙏
    - डॉ शरद सिंह

    जवाब देंहटाएं
  14. बहुत सुंदर प्रस्तुति, गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

    जवाब देंहटाएं
  15. गणतन्त्र दिवस पर सुंदर प्रस्तुति, इसी तरह भारत का मस्तक सदा ऊँचा रहे !

    जवाब देंहटाएं
  16. बहुत बहुत आभार आदरणीया।
    --
    72वें गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...