निवेदन।


फ़ॉलोअर

गुरुवार, 6 अगस्त 2020

1847...हम शांति-सौहार्द की नींव रखते चले आए हैं...

 सादर अभिवादन। 

गुरुवारीय अंक में  आपका स्वागत है।

हम 
शांति-सौहार्द की 
नींव रखते 
चले आए हैं,
दुनिया में 
कहीं 
नींव उखाड़ते 
लोग लहूलुहान 
नज़र आए हैं। 
-रवीन्द्र 
 
आइए अब आपको आज की पसंदीदा रचनाओं की ओर ले चलें-

 आकांक्षा (ग्यारवा संकलन )

बहुत प्रयास किये गए थे
 प्राणों  की आहुती भी दी थी कितनों ने
जो अब फलीभूत हुई  है
अब प्रतिफल मिला है इस रूप में  |

घर-घर दीप जलाएंगे.... अनुराधा चौहान 

 

सरयु किनारे भव्य राम का
मंदिर होगा अति सुंदर।
राम लला तंबू से उठकर
पहुँचेंगे घर के अंदर।
सदियों का वनवास भोग के
राम लला घर आएंगे।

तिरंगे का करें सम्मान आँखों पे... रेखा जोशी 

 करें हम नमन भारत के जवानों को

शहीदों का रखेंगे मान आँखों पे

करेंगे खत्म घोटाले सभी मिल कर

रखेंगे देश का अभिमान आँखों पे

 बेटी का विवाह नहीं हो पाता, दूल्हा कौन खोजे, इंतजाम कौन करे? सामाजिक रूप से उनका कोई पालनहार नहीं।

अब क्या हो? क्या वे दोनो आत्महत्या कर लें जो कि पड़ोसी चाहते हैं, ताकि उनका घर हड़पा जा सके. मां 60वर्ष से ज्यादा की है और बेटी 40 के आसपास। उम्र साथ छोड़ रही है....
समाज भी... संकट गहरा है और हितैषी के बराबर। अब रसोई के सारे कनस्तर खाली हैं और भरने वाला कोई नहीं...
कोई कुछ करेगा क्या????

कोरोना के इफेक्ट्स और बचने के उपाय --डॉ. टी.एस. दराल 

 

एक घंटा पसीना बहाकर तन और मन दोनों चुस्ती और स्फूर्ति से भर जाते थे।  सभी मित्रों और रिश्तेदारों से दूर लॉक डाउन में घर में बंद रहकर, मानसिक तनाव और बेचैनी होना भी एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। ऐसे में बहुत से लोगों को मानसिक विकार पैदा हो जाते हैं।  चिड़चिड़ापन, नींद आना , बात बात पर झगड़ना आदि हरकतें इस दौरान बहुत देखने में आईं। इससे बचने के लिए आवश्यक होता है कि आप अपने आप को व्यस्त रखें, कुछ ऐसे काम करें जो समय के आभाव में पहले नहीं कर पा रहे थे, नए शौक बनायें या पुराने शौक पूरे करें।

 

हम-क़दम का एक सौ तीसवाँ विषय
आज बस यहीं तक 
फिर मिलेंगे आगामी मंगलवार। 

रवीन्द्र सिंह यादव

 

9 टिप्‍पणियां:

  1. जय जय श्री राम
    बढ़िया..
    सादर..

    जवाब देंहटाएं
  2. जय श्री राम
    सुन्दर प्रस्तुति

    जवाब देंहटाएं
  3. जय सिया राम...
    शानदार अंक..
    सादर..

    जवाब देंहटाएं
  4. सुप्रभात
    सुन्दर रचनाओं से सजा आज का अंक |मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद यादव जी |

    जवाब देंहटाएं
  5. ब्लोग्स को जोड़ने के लिए आभार।

    जवाब देंहटाएं
  6. सार्थक सूत्रों से सुसज्जित आज की हलचल ! अयोध्या में श्रीराम मंदिर का भूमिपूजन सभी रामभक्तों की वर्षों की आस्था एवं अभिलाषा की विजय है ! यह एक ऐतिहासिक कदम है और सभीके लिए हर्षोल्लास का प्रतीक है ! जय सिया राम !

    जवाब देंहटाएं
  7. बहुत सुंदर प्रस्तुति, राम मंदिर के भूमि पूजन की आप सभी को हार्दिक बधाई। मेरी रचना को स्थान देने के लिए आपका हार्दिक आभार आदरणीय।

    जवाब देंहटाएं
  8. अत्यंत सुंदर प्रस्तुति। भगवान श्री राम के आगमन की सभी को बधाई हो। बहुत ही अनंदकर प्रस्तुति और अच्छी जानकारियां।
    आप सबों को प्रणाम।

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...