निवेदन।


फ़ॉलोअर

शनिवार, 29 अक्तूबर 2016

470 .... छोटी दीवाली





यथायोग्य सभी को
प्रणामाशीष

हमारे घर में ... यानि मैके और ससुराल में
आज रात्रि में ... सोने जाने से पहले
एक दीया घर के बाहर कूड़े के ढ़ेर पर जलाया जाता है
पहले कूड़े का ढ़ेर को खाद बना दिया जाता था
 कूड़े का ढ़ेर भी महत्वपूर्ण है




Image result for दीपावली पर कविता






Image result for दीपावली पर कविता











Image result for दीपावली पर कविता




deep









Diwali SMS (Funny)



diwali17.gif


फिर मिलेंगे ... तब तक के लिए

आखरी सलाम


विभा रानी श्रीवास्तव


10 टिप्‍पणियां:

  1. आदरणीय दीदी
    सादर चरणस्पर्श
    मनमोहक प्रस्तुति
    सादर

    जवाब देंहटाएं
  2. सुन्दर प्रस्तुति ......शुभकामनायें ...

    जवाब देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर शनिवारीय हलचल प्रस्तुति विभा जी ।

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर दीपमय हलचल प्रस्तुति

    जवाब देंहटाएं
  5. sabhi ne bahut acha kaam kiya h mene bhi apna blog suru kiya please check batoo kasa laga My blog

    जवाब देंहटाएं
  6. अगर आपके पास गवर्मेन्ट योजना का कोई माहिती नहीं हे और आप उसको जानने के लिए उस्तुक हे तो यहाँ पर क्लिक कीजिये - pradhan mantri awas yojana guidelines

    जवाब देंहटाएं
  7. Your blog regularly share very Informative information .
    Here I also want to share some residential investment information of
    Gold Mark Zirakpur and
    Gillco Parkhills that will make your life more comfortable and enjoyable.

    जवाब देंहटाएं
  8. Great information shared.. really enjoyed reading this post thank you author for sharing this post .. appreciated

    All types of Republic Day Quotes in Hindi with India Republic Day images for WhatsApp Status, Facebook and Instagram.

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...