निवेदन।


फ़ॉलोअर

बुधवार, 23 अक्तूबर 2019

1559..तुम्हारी फाइलों में गाँव का मौसम गुलाबी है..



।।प्रातःवंदन।।


तुम्हारी फाइलों में गाँव का मौसम गुलाबी है
मगर ये आंकड़े झूठे हैं ये दावा किताबी है

उधर जम्हूरियत का ढोल पीते जा रहे हैं वो
इधर परदे के पीछे बर्बरीयत है ,नवाबी है

लगी है होड़ - सी देखो अमीरी औ गरीबी में
ये गांधीवाद के ढाँचे की बुनियादी खराबी है
अदम गोंडवी
क्रांतिकारी भाव के प्रतीक कवि-शायर अदम गोंडवी जी के
जन्मदिवस ( 22 अक्टूबर 1947)पर सादर नमन 
चलिए अब नज़र डालते हैं लिंकों की ओर..✍

💢💢



           रमन ने पूछा --"मम्मी दशहरे के दिन रावण को क्यो जलाते हैं ?'
           "बेटा रावण बहुत खराब था। उसने भगवान राम की पत्नी सीता का धोखे से अपहरण कर लिया था  । सीता को वापस लेने के लिये राम को रावण से युद्ध करना पड़ा और युद्ध में रावण मारा गया था ।'
💢💢


आज जब मैंने 
तुमको तड़पते हुए देखा 
शक्तिहीन अस्तित्त्वहीन 
निःशस्त्र और दीन 
आँखों में आँसू 
माथे पर सलवटें  
भविष्य को सजाने की चाह में 
वर्तमान को ..

💢💢



भारतीय-संस्कृति और सभ्यता के प्रतीक हैं मिट्टी के दीए
आज भले ही दीपावली में चारों ओर कृत्रिम रोशनी से पूरा शहर जगमगा उठता है, लेकिन मिट्टी के दीए बिना दिवाली अधूरी है।

💢💢



दीपमालिका दीप ज्योति संग
भर-भर खुशियां लायी
नवल ज्योति की पावन आभा 
प्रकाश पुंज ले आयी
प्रज्वलित करने मन प्रकाश को
दीपशिखा लहरायी..

💢💢

समाज में व्यापत बुराईयों पर किसे दोष दूँ! जब अपनी ही औलाद  सही मार्ग का अनुसरण न करें और संस्कार हीन हो ...

ऐसे हर बिगड़े  बेटे और बेटियों की माँ  का आत्ममंथन…
बेटे तेरे कृत्यों पर  मैं  शर्मिन्दा हूँ
कोख शर्मसार हुई , क्यों जिन्दा हूँ ।
रब से की थी असंख्य दुआएं,
प्रभु से की मंगलकामनाएं ।

💢💢

।।इति शम।।
धन्यवाद
पम्मी सिंह 'तृप्ति'..✍


13 टिप्‍पणियां:


  1. लगी है होड़ - सी देखो अमीरी औ गरीबी में
    ये गांधीवाद के ढाँचे की बुनियादी खराबी है...

    गांधी बाबा क्या करें बेचारे , उनकी गरीब " खादी " पर भी अमीरों का कब्जा हो गया है। एक सदरी की कीमत 3 हजार है ।गांधी आश्रम चले जाएं वहां नेताओं का बोलबाला है ,गरीबों का नहीं ।
    बहन अनिता सैनी जी की रचना " आम आदमी" बेहद प्रभावशाली है।
    प्रस्तुति की भूमिका उम्दा है सभी रचनाकारों को प्रणाम।


    जवाब देंहटाएं
  2. बेहतरीन प्रस्तुति..
    सादर..

    जवाब देंहटाएं
  3. बेहतरीन लिंक्स एवं प्रस्तुति

    जवाब देंहटाएं
  4. बेहतरीन हलचल की प्रस्तुति 👌)
    मुझे इस मंच पर सम्मान देने और स्थान देने हेतु तहे दिल से आभार आदरणीय पम्मी जी का
    सादर

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत सुंदर भूमिका और सराहनीय रचनाओं से सजा आज का सुंदर संकलन। बहुत अच्छी प्रस्तुति है पम्मी जी।
    सादर।

    जवाब देंहटाएं
  6. बहुत ही शानदार भुमिका के साथ सुंदर रोचक प्रस्तुति
    सभी लिंक मन भावन रचनाओं के साथ, ।सभी रचनाकारों को बधाई
    मेरी रचना को शामिल करने के लिए हृदय तल से आभार।

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...