निवेदन।


फ़ॉलोअर

शनिवार, 26 अक्तूबर 2019

1562... नर्क चतुर्दशी




रूप चतुर्दशी की शुभकामनाएं के लिए इमेज परिणामएक दीया
शहीदों के नाम , उन किसानों के नाम जो आत्महत्या कर लेते , चमकी बुखार में मरे बच्चों के नाम , बाढ़-अकाल में अकाल मौत के नाम
रूप चतुर्दशी की शुभकामनाएं के लिए इमेज परिणाम


रूप चतुर्दशी की शुभकामनाएं के लिए इमेज परिणाम

रूप चतुर्दशी की शुभकामनाएं के लिए इमेज परिणाम


रूप चतुर्दशी की शुभकामनाएं के लिए इमेज परिणाम



15 टिप्‍पणियां:

  1. आपने कितनी बढ़िया बात कही कि दीपक अपने घरों के अतिरिक्त हमें और कहाँ - कहाँ जलाना चाहिए, लेकिन संवेदनाएँ अब हैं कहाँ, जो ज्ञान देते हैं, मैंने बहुत करीब से उनके आचरण को देखा है।
    वे सुंदर काव्य रचना कर सकते हैं, पत्रकार अखबारों में ऐसे लेख प्रकाशित कर सकते हैं, समाजसेवी दिखावे के लिये एक दीप मलीन बस्ती में जला सकते हैं और राजनेता मंचों से ऐसे विचारोत्तेजक संवाद कह सकते हैं, परंतु यथार्थ ..?
    वैसे, आज...
    अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहं
    दनुजवनकृशानुं ज्ञानिनामग्रगण्यम्‌।
    सकलगुणनिधानं वानराणामधीशं
    रघुपतिप्रियभक्तं वातजातं नमामि॥

    राम भक्त हनुमान जी के मंदिरों में भक्तों की भीड़ ब्रह्ममुहूर्त से ही उमड़ी है। उनका जन्मोत्सव मनाया जा रहा है। युवाओं को व्यायाम और ब्रह्मचर्य की ओर अग्रसर करने के लिए गोस्वामी तुलसीदास जी ने अपने काल में काशी सहित अन्य स्थानों पर हनुमान जी की मूर्ति स्थापना का व्यामशाला का निर्माण करवाया था । मुझे भी अपने घर के सामने स्थित व्यामशाला की याद आ रही है । आज यदि मैं वहाँँ होता तो निश्चित ही हनुमान जी की जयंती में सम्मिलित होता।
    सभी को छोटी दीपावली एवं नरक चतुर्दशी की शुभकामनाएँँ।

    जवाब देंहटाएं
  2. शुभ दीपावली
    बेहतरीन संकलन एवं प्रस्तुति
    सादर आभार

    जवाब देंहटाएं
  3. अति सुंदर भावयुक्त और विशिष्ट प्रस्तुति दी सदैव की तरह..। सराहनीय।

    जवाब देंहटाएं
  4. मंगलकामनाएं दीप पर्व की। सुन्दर प्रस्तुति।

    जवाब देंहटाएं
  5. सराहनीय प्रस्तुति ।
    हमेशा की तरह अलहदा उत्कृष्ट।

    जवाब देंहटाएं
  6. दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    आज की विशेष प्रस्तुति में उल्लास से लेकर गंभीर संवेदना की झलक प्रस्तुत की आदरणीया विभा दीदी ने।

    बिना लिंक की प्रस्तुति का अंदाज़ बड़ा निराला है। परिवर्तन विमर्श के नये धरातल उपलब्ध कराता है।

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. 🤔 बिना लिंक कैसे प्रस्तुतिकरण

      तस्वीर पर क्लिक करने से लिंक मिलते

      हटाएं
    2. सादर नमन दीदी।
      भूल सुधर गयी। लिंक पर क्लिक करने की आदत के चलते फोटो को क्लिक करने का ध्यान ही नहीं था।

      हटाएं
  7. Very interesting post.this is my first time visit here. I found so many interesting stuff in your blog especially click here

    जवाब देंहटाएं
  8. This blog is very nice to read I found so many interesting stuff in your blog especially click here

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...