निवेदन।


फ़ॉलोअर

शनिवार, 3 अगस्त 2019

1478.. हरियाली तीज


भादो तीज के लिए इमेज परिणाम

बिहार के मिथिला में सावन का तीज(मधुश्रावणी) मनाया जाता है
तो बिहार के अन्य कुछ हिस्सों में
भादो का तीज(हरतालिका तीज) मनाया जाता है
मेरे हिस्से कोई पर्व नहीं आया
ना तो हिन्दू का और ना तो किसी अन्य धर्म का
सर हर जगह झुकता है
पाठक के सामने ज्यादा

हरियाली तीज पर शायरी के लिए इमेज परिणाम

एक दूजे के सहयोग से
आसमान को छूले आओ ।
गुजियाँ खाओ, घेवर खाओ
जितने चाहो मेवा खाओ
पर छोटे-बडो के लिये हमेशा
दिल मे रखो सेवा भाव ।
Hariyali Teej Poem in Hindi & English

बदलते दौर में इन त्योहारों पर भी पश्चिमी संस्कृति हावी हो रही है।
अब तो महिलाओं द्वारा गाया जाने वाला गीत पर
मल्हार का स्वरूप भी बदल चुका है।
ढोलक की थाप और लोकप्रिय कच्चे गीत की निबोरी सावन जल्दी
 अईयो रे की गूँज भी सुनाई नही देती थी।
 महिलायें हरियाली तीज के लोकगीत इन्द्र राजा झूम आए बाग में जी...

भादो तीज के लिए इमेज परिणाम

हरतालिका तीज
सुहागिन महिलाओं के बीच तीज पर्व का खास महत्व है.
मान्यनता है कि माता पार्वती ने भगवान शिव को पति रूप में प्राप्त् करने के लिए
 पूरे तन-मन से करीब 108 सालों तक घोर तपस्याज की.
 पार्वती के तप से प्रसन्ने होकर शिव ने उन्हेंत पत्नीा के रूप में स्वीकार कर लिया.
 तीज पर्व पार्वती को समर्पित है, जिन्हें् तीज माता कहा जाता है. 
साल भर में कुल चार तीज मनाई जाती हैं, 

सातुड़ी तीज
पिंडा पति / पुत्र से चाँदी के सिक्के से बड़ा करवाये (पिंडा तोड़ना )
इस क्रिया को पिंडा पासना  Pinda Pasna कहते है।
 पति पिंडे में से सात छोटे टुकड़े करते है आपके खाने के लिए । 
पति बाहर हो तो सास या ननद पिंडा पासना कर सकती है।


सत्तू तीज की कहानी
साहूकार बोल्यो कि अब अच्छी पढ़ी लिखी बहु लायगा
उसकी भी शादी करी तीज को दिन आयो सासु बोली कि 
हम तो सब खड़ा नीम की पूजा करा तो बहु बोली कि मै तो 
कोई खड़ा नीम नही पूजू म्हारे पीयर में तो भीत पर नीम कि डाल
 गाढ़ देवे और उसकी पूजा करे बहु ने दीवार पर नीम मांडकर पूजा
 करी तो उसका छ:जेठ जिन्दा हो गया |
><
अब बारी विषय की
आज का विषय इसी अँक से
विषय
मेंहदी
उदाहरण

नारी का असीम स्नेह है मेहंदी,
प्रीतम का अगाध प्यार है मेहंदी।
बिना मेहंदी कोई रौनक नहीं,
त्यौहारों की शान है मेहंदी।
रचनाकार-आदरणीय अनुराधा चौहान

अंतिम तिथि- 03 अगस्त 2019
प्रकाशन तिथि- 05 अगस्त 2019
प्रविष्ठियाँ ब्लॉग सम्पर्क प्रारूप में ही मान्य
कृपया ब्लॉग आई डी अवश्य लिखें
सादर


13 टिप्‍पणियां:

  1. वाह सुन्दर सूत्र संकलन बढ़िया प्रस्तुति।

    जवाब देंहटाएं
  2. आदरणीय दीदी..
    सदा की तरह हरी-भरी प्रस्तुति..
    आभार..
    सादर..

    जवाब देंहटाएं
  3. वाह !दी बेहतरीन प्रस्तुति 👌, ये मेहंदी रचे हाथ.. ...
    सादर

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत सुंदर मधु-श्रावणी संकलन।

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत मोहक विषय सुंदर प्रस्तुति शानदार लिंक।

    जवाब देंहटाएं
  6. उत्सव का आनंद विशेष करने में दी आपका कोई जवाब नहीं...बहुत सुंदर अंक बना है सभी रचनाएँ बहुत अच्छी है।

    जवाब देंहटाएं
  7. वाह ! सुन्दर सजीला हरियाला अंक आदरणीय दीदी | सभी तरह की जानकारियों ने अंक को विशेष बना दिया है | सभी प्यारी बहनों को इस दिवस विशेष जी हार्दिक मंगलकामनाएं | तीज सभी के लिए शुभता और सौभाग्य भरी हो यही दुआ है | सभी रचनाकारों को बधाई |सादर प्रणाम |

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...