पाँच लिंकों का आनन्द

पाँच लिंकों का आनन्द

आनन्द के साथ-साथ उत्साह भी है...अब आप के और हमारे सहयोग से प्रतिदिन सज रही है पांच लिंकों का आनन्द की हलचल..... पांच रचनाओं के चयन के लिये आप सब की नयी पुरानी श्रेष्ठ रचनाएं आमंत्रित हैं। आप चाहें तो आप अन्य किसी रचनाकार की श्रेष्ठ रचना की जानकारी भी हमे दे सकते हैं। अन्य रचनाकारों से भी हमारा निवेदन है कि आप भी यहां चर्चाकार बनकर सब को आनंदित करें.... इस के लिये आप केवल इस ब्लॉग पर दिये संपर्क प्रारूप का प्रयोग करें। इस आशा के साथ। हम सब संस्थापक पांच लिंकों का आनंद। धन्यवाद एक और निवेदन आप सभी से आदरपूर्वक अनुरोध है कि 'पांच लिंकों का आनंद' के अगले विशेषांक हेतु अपनी अथवा अपने पसंद के किसी भी रचनाकार की रचनाओं का लिंक हमें आगामी रविवार तक प्रेषित करें। आप हमें ई -मेल इस पते पर करें dhruvsinghvns@gmail.com तो आइये एक कारवां बनायें। एक मंच,सशक्त मंच ! सादर

समर्थक

बुधवार, 22 मार्च 2017

614.....सब बिकाउ है जमीर ही बेच डाल

सादर अभिवादन
काफी से अधिक फेर-बदल महसूस कर रही है भारत की जनता
और अच्छा भी लग रहा है...दिन अच्छाइयों के जो आ रहे हैं
हरदम की तरह नकारात्मक सोंच वालों की कलम तेजी से चल रही है
पढ़ रही हूँ जो..यदि वो नकारात्मक है तो...उसमें भी कहीं न कहीं
सकारात्मकता छिपी ही होती है....

आज की पसंद कुछ ऐसी ही है...

रचनी हैं अब साजिशें 
स्वप्न तो बहुत देख दिखा चुके 
ये वक्त का बदला लहजा है 
जिस पर इंसानियत तलवों का उपालम्भ है 
और साजिश एक आदतन शिकारी 


प्रयास....शुभा मेहता
मैंने कुछ सीखा आज
एक मकड़ी से
निरन्तर प्रयास करते रहना
जुट जाना जी जान से
चाहे , कोई कितनी ही बार


विकास की राह चलने से बदलेगी छवि....राजा कुमारेन्द्र सिंह सेंगर
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सबका साथ, सबका विकास की नीति और सर्वहितकारी राजनीति के चलते अनुमान लगाना कठिन था कि योगी जैसे कट्टर हिंदुत्व छवि और विवादित बयान देने वाले व्यक्ति को उत्तर प्रदेश की कमान सौंपी जाएगी. ऐसे समय में जबकि ठीक दो वर्ष बाद केंद्र सरकार को या कहें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को सम्पूर्ण देश के सामने लोकसभा चुनाव की परीक्षा से गुजरना है, उत्तर प्रदेश में कट्टर हिंदुत्व छवि का मुख्यमंत्री बनाया जाना अपने आपमें एक चुनौती ही कहा जायेगा


योग, रोग, भोग....सखाजी
ऐसा बना योग
हर योगी को लगा रोग
गद्दियां मल रहे हैं
ख्वाब यूं पल रहे हैं




परीक्षा...साधना वैद
पास या फेल
मेहनत का फल
मिल जाएगा

पास हो जाते
खूब मन लगा के
जो पढ़ लेते

बात पते  की....डॉ. सुशील जोशी

बस एक
मेरी 
परेशानी
का तोड़ 
निकाल

बैचेनी है 
बेचनी
कोई तो 
खरीददार
ढूँढ निकाल।
...

दें इज़ाज़त यशोदा को
सादर









6 टिप्‍पणियां:

  1. ढ़ेरों आशीष व असीम शुभकामनाओं के संग शुभ प्रभात छोटी बहना
    उम्दा प्रस्तुतीकरण

    उत्तर देंहटाएं
  2. बढ़िया प्रस्तुति। आभार यशोदा जी 'उलूक' के एक पुराने सूत्र को भी जगह देने के लिये।

    उत्तर देंहटाएं
  3. यशोदा जी बहुत बहुत धन्यवाद पाँच लिंकों की माला में मेरे मोती को सम्मिलित करने हेतु ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत बढ़िया हलचल प्रस्तुति हेतु आभार!

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत सुन्दर सूत्र ! मेरी रचना को सम्मिलित करने के लिए आपका हृदय से आभार यशोदा जी !

    उत्तर देंहटाएं
  6. अतिसुन्दर। संकलन, "यशोदा जी"आभार

    उत्तर देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...