पाँच लिंकों का आनन्द

पाँच लिंकों का आनन्द

आनन्द के साथ-साथ उत्साह भी है...अब आप के और हमारे सहयोग से प्रतिदिन सज रही है पांच लिंकों का आनन्द की हलचल..... पांच रचनाओं के चयन के लिये आप सब की नयी पुरानी श्रेष्ठ रचनाएं आमंत्रित हैं। आप चाहें तो आप अन्य किसी रचनाकार की श्रेष्ठ रचना की जानकारी भी हमे दे सकते हैं। अन्य रचनाकारों से भी हमारा निवेदन है कि आप भी यहां चर्चाकार बनकर सब को आनंदित करें.... इस के लिये आप केवल इस ब्लॉग पर दिये संपर्क प्रारूप का प्रयोग करें। इस आशा के साथ। हम सब संस्थापक पांच लिंकों का आनंद। धन्यवाद एक और निवेदन आप सभी से आदरपूर्वक अनुरोध है कि 'पांच लिंकों का आनंद' के अगले विशेषांक हेतु अपनी अथवा अपने पसंद के किसी भी रचनाकार की रचनाओं का लिंक हमें आगामी रविवार तक प्रेषित करें। आप हमें ई -मेल इस पते पर करें dhruvsinghvns@gmail.com तो आइये एक कारवां बनायें। एक मंच,सशक्त मंच ! सादर

समर्थक

शनिवार, 4 मार्च 2017

596... नया एक



सभी को यथायोग्य
प्रणामाशीष

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस (NATIONAL SECURITY DAY OF INDIA, RASHTRIY SURKSHA DIN)

कार्यस्थलो पर सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए 4 मार्च को पूरे देश में राष्ट्रीय सुरक्षा दिन मनाया जाता है | और इसी दिन से ही सप्ताह तक चलने वाला राष्ट्रीय सुरक्षा सप्ताह की शरुआत होती है |

आज के दिन ही क्यों राष्ट्रीय सुरक्षा दिन ?

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद् ( NATIONAL SAFETY COUNCIL OF INDIA)  एक बिन नफाकारक और बिन सरकारी संस्था है  | जो कार्य स्थलों पर सुरक्षा करने का कार्य करती है , जिसकी स्थापना 4 मार्च 1966 के दिन सोसाईटी एक्ट के तहत रजिस्टर्ड हुई | इसी लिए आज के दिन मनाया जाता है |

राष्ट्रीय भूविज्ञान दिन (NATIONAL GEO SCIENCE DAY)

भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण भूविज्ञान क्षेत्र की प्रधान राष्ट्रिय वैज्ञानिक संस्था है  | इस संस्था की स्थापना 4 मार्च 1851 में हुई थी | इस संस्था के  स्थापना दिन को ‘भूविज्ञान दिन’ के रूप में मनाया जाता है ... इस संस्था खनिज संशोधन, कृषि, जलविद्युत, उत्पादन, संदेशा व्यव्हार, भूपर्यावरण, भूकंप, कुदरती आपत्ति और  हिमनदी संशोधन जैसे क्षेत्रो राष्ट्रीय हित के लिए अपनी बहुमूल्य सेवा दी है


Image result for सुरक्षा स्लोगन


तनाव

मैं बदला या मेरा गांव

जरूरत किसकी

नया एक

आत्मघात से बुरी कोई चीज नहीं


फिर मिलेंगे

विभा

5 टिप्‍पणियां:

  1. शुभ प्रभात
    बड़ी दीदी को सादर नमन
    राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस की शुभ कामनाएँ
    अचछी, छोटी पर सारगर्भित रचनाएँ
    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  2. दीदी
    अंतिम रचना नें दिल खुश किया
    सलाम अशोक चक्रधर को
    चचा,
    ख़बरें तो हर दिन
    देश की, विदेश की,
    परियों की,
    परिवेश की और
    मुहब्बतों के क्लेश की
    सामने आती ही रहती हैं।
    अन्ना हजारे अब
    जंतर पर मंतर चला कर
    यू.पी. के अनंतर हैं।
    कलमाडी गिरफ़्तंतर हैं।
    सांईं बाबा
    के ऊपर चले जाने के बाद
    चालीस हज़ार करोड़ पर
    सबके पेट में मरोड़ हो रहा है।
    चुनाव हुए,
    घपले हुए।
    चारों तरफ़ ख़बरें ही ख़बरें हैं।
    हां, याद आया चचा,
    एक ख़बर ने ध्यान खींचा।
    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुप्रभात सुंदर संकलन आभार आपका

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर हलचल प्रस्तुति

    उत्तर देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...