निवेदन।


फ़ॉलोअर

मंगलवार, 17 सितंबर 2019

1523 ....काम है, रोजगार है, बेरोजगार मौज के लिये बेरोजगार है


सादर अभिवादन

आज विश्वकर्मा जयन्ती है
देव-शिल्पी भगवान विश्वकर्मा को सादर नमन

चलिए चलते हैं रचनाओं की ओर...




दुनिया में दीनो इश्क़ के चर्चे तो कम करो 
या आशिकों पे जारी फतवे तो कम करो... 

पलकें बिछाए बैठे हैं हम राह में तेरी 
तुम भी अना के अपनी, मसले तो कम करो ... 

वैसे ही कम है वक़्त मोहब्बत के वास्ते 
यूँ इश्क़ में ये रोज़ के झगड़े तो कम करो...


"प्रतीक्षारत साँसें कितनी विकट होती है... आस पूरी होगी या अकाल मौत मिलती है..?" मंच पर काव्य-पाठ जारी था और श्रवण करने वाले रोमांचित हो रहे थे... हिन्दी दिवस के पूर्व दिवस 
(शुक्रवार13 सितम्बर 2019)  एम.ओ.पी. महिला वैष्णव महाविद्यालय का सभागार परिसर , विभिन्न महाविद्यालयों से आमंत्रित छात्र-छत्राओं से भरा हुआ था

सबसे पहले तुमने ही हराया था मुझे
अपनी दूरियों के जाल को मुझपर फेककर

और जमाना तो हार का मोहताज नही 
वो तो जीत का ही जश्न मनाता फिरता है

माँ का आँचल शीतल पीपल देख रहा
मौन तपस्वी अविचल पीपल देख रहा

शरद, शिशिर हेमंत
गीष्म बैसाखी वर्षा
ऋतु परिवर्तन प्रतिपल पीपल देख रहा

नहीं लिखी 
किताबों 
को ही बस 

हर 
दुकान में 
बेचने 
का फरमान 

‘उलूक’ 
पढ़े लिखों का 
कोई खास 
अनपढ़ ही 

तेरे घर का 
ले कर के 
सामने से 
निकल 
के 
आयेगा।
....
अब बारी है विषय की
नवासिवाँ विषय
सजदा
उदाहरण
सजदे तो कम करो..... मुदिता गर्ग
विषय इसी अंक से लिया गया है

अंतिम तिथि-21 सितम्बर
दोपहर तीन बजे तक
प्रेषण माध्यम ब्लॉग सम्पर्क फार्म

इज़ाज़त
य़शोदा



13 टिप्‍पणियां:

  1. श्रम को श्रेष्ठ निर्माण कार्य में किस तरह से परिवर्तित किया जाए ,इस कला का मार्ग दर्शन करने वाले देव शिल्पी को आज नमन करते हुये छात्र जीवन का स्मरण हो आया है।
    इस सार्थक प्रस्तुति के लिये यशोदा दी आप सहित सभी को प्रणाम।

    जवाब देंहटाएं
  2. सस्नेहाशीष व असीम शुभकामनाओं के संग हार्दिक आभार छोटी बहना
    उम्दा प्रस्तुतीकरण

    जवाब देंहटाएं
  3. बहुत खूबसूरत प्रस्तुति ! सभी लिंक लाजवाब !!

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत आभार मेरी रचना को शामिल करने के लिए ,सभी प्रस्तुतियां शानदात

    जवाब देंहटाएं
  5. सुन्दर हलचल प्रस्तुति। आभार यशोदा जी।

    जवाब देंहटाएं
  6. बहुत सुंदर प्रस्तुति शानदार लिंको का चयन ।
    सभी रचनाकारों को बधाई। विश्वकर्मा पूजा पर सभी को हार्दिक शुभकामनाएं।

    जवाब देंहटाएं
  7. वाह ... लाजवाब लिंक्स का सुन्दर संयोजन ...
    आभार मेरी रचना को जगह देने के लिए ...

    जवाब देंहटाएं
  8. शानदार प्रस्तुतिकरण उम्दा लिंक संकलन...

    जवाब देंहटाएं
  9. Thank You for this useful information. It's very useful for everyone-THANKS

    जवाब देंहटाएं
  10. लाजवाब
    मुझे यहाँ स्थान देने के लिए आभार आपका आदरणीया सादर
    🙏

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...