निवेदन।


फ़ॉलोअर

शनिवार, 6 फ़रवरी 2021

2031... लाम

 हाज़िर हूँ... ,उपस्थिति स्वीकार हो...

 "हैं! धन्यवाद ज्ञापनकर्त्ता में मेरा नाम?"

"थोड़ी सुस्ती मिटेगी बहुत कर चुके हो आराम...!"

"तो ठीक है! लेकिन ये बोलने वाला काम !"

"सदैव तैयार रहना चाहिए, जैसे नेतृत्वकर्त्ता

लाम

निश्चित ही शब्दसागर में इसे फ़ारसी का लिखा जाना सम्पादन की त्रुटि है। मुझे लगता है fr को फ़ारसी का संक्षेपीकरण समझ लिया गया होगा। यह कहा जा सकता है कि फ़ारसी का लाम दरअसल फ्रैंच लार्मे का रूपान्तर है। ऐसा मानना इसलिए सही नहीं होगा, जैसा कि ऊपर कहा जा चुका है, ओल्ड फ्रैंच में इसका रूप armée है। अंग्रेजी का आर्मी भी इसका सहोदर है। मूलतः यह इंडो-यूरोपीय भाषा परिवार का समूहवाची शब्द है। आर्मी शब्द के बारे में शब्दों का सफ़र में लिखा जा चुका है। आर्मी army बना है आर्म arm से जिसमें शरीर के हिस्से या अंग का भाव है। आर्म का मतलब भुजा भी होता है। इसका मूल भारोपीय धातु अर् है जिसमें जुड़ने का भाव है।

गामा और लामा

हन-हन-हन हथियार चलाते  

विरोधियों के किले ढहाते 

ह्त्या करते, खून बहाते 

धरम-करम के नाम पर ! 

लहू दामनेदाम पर !

लहू दामनेबाम पर !

गज़ल

यह समय वास्तव में, इंसान के प्रकृति से दूर जाने का समय है। कमाल की बात यह है कि प्रकृति के लिए समानार्थी शब्द हिंदी में स्वभाव, उर्दू में कुदरत और अंग्रेज़ी में नेचर हैं, जो सीधे मनुष्य के मन और मूल से जुड़े शब्द हैं। इशारा यह है कि पर्यावरण के बहाने से अपने भीतर झांकें और मंथन करें कि हम अपने मूल, मन या कुदरती दिशा के विपरीत क्यूं जाने लगे हैं। इसका जवाब मिलते ही भाषा, रंग, जाति, धर्म से जुड़े बहुत से मसअले तो अपने आप ही सुलझ सकते हैं।

हमला

 जो वादे 1960 के दशक से पहले किए गए थे वे ' ब्लैक-ऐंड-व्हाइट ' तितलियों के रूप में चारो ओर फड़फड़ा रहे थे । सिनेमा में रंगीन युग आने के बाद किए गए वादे ' कलर्ड ' तितलियों के रूप में चारो ओर मँडरा रहे थे । इसी तरह पूरा दिन निकल गया और इस समस्या का कोई समाधान नहीं निकला । पर रात के बारह बजते ही सभी तितलियों का कायांतरण हो गया... 

गुनाहों की नगरी

दूसरे दिन हमने सुबह द वेनिशियन देखने और वहीँ खाना खाने का कार्यक्रम बनाया। सुबह नौ बजे ही चाय के लिए अपने होटल की लॉबी में आये। देसी चाय तो यहाँ नहीं मिलती पर चाय जैसा कुछ मिलता है -नाम चायलाते। मेरा काम इस से चल जाता है।देखती हूँ कुछ उम्रदराज़ महिलायें  अलसुबह ही स्लॉट मशीनों पर  लगी है-अपनी पेंशन फूँकने । वृद्धों के इसी टाइम-पास के शौक के चलते वर्जनाहीन  लास वेगास में नक़ली बत्तीसी गिरवी रखना वर्जित है। अच्छा है। होटल के अंदर ही चर्च बना हुआ है जहाँ पांच सौ डॉलर में शादि की जा सकती है। वेगास में लोग शादि करने आते हैं पर कई बार ऐसा भी हो जाता है कि सुबह खुमारी उतरने पर पति पत्नी से पूछे -'बाय द वे डार्लिंग ..तुम्हारा असली नाम क्या है?

>>>>><<<<<

पुन: भेंट होगी...

>>>>><<<<<


6 टिप्‍पणियां:

  1. शुभ प्रभात..
    बढ़िया प्रस्तुति..
    आभार...
    सादर नमन

    जवाब देंहटाएं
  2. आदरणीया विभा रानी जी,
    सादर नमन 🙏
    बेहतरीन संयोजन है बेहतरीन लिंक्स का...
    बधाई 🙏
    सादर,
    डॉ. वर्षा सिंह

    जवाब देंहटाएं
  3. सदा की तरह सराहनीय संकलन।
    प्रणाम दी।

    जवाब देंहटाएं
  4. Sarkariexam Says thank You Very Much For Best Content I Really Like Your Hard Work. Thanks
    amcallinone Says thank You Very Much For Best Content I Really Like Your Hard Work. Thanks
    9curry Says thank You Very Much For Best Content I Really Like Your Hard Work. Thanks

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...