निवेदन।


फ़ॉलोअर

गुरुवार, 21 मार्च 2019

1343....चुनावी मौसम की एक और होली गुज़र रही है....

सादर अभिवादन। 
"पाँच लिंकों का आनन्द" परिवार की ओर से 
होली की हार्दिक शुभकामनाएँ। 

Image result for holi pics
चित्र साभार: गूगल 

चुनावी मौसम की एक और होली गुज़र रही है। 
रंगों का उमंगोंभरा त्योहार हमारे जीवन में उत्साह भर देता है। 
सद्भावना ,सामाजिक एकता और प्रेम का पर्व एक लोकप्रिय जुमले "बुरा न मानो होली है" 
के साथ बड़ा दिल दिखाने को कहता है। 
आदर्श रूप में होली का पर्व हमारे जीवन में पवित्र विचारों का झौंका लाता है 
वहीँ व्यावहारिकता में हमारा समाज नफ़रत की बद-मिजाज़ फ़ज़ा से घिरा हुआ है। 
आइये माहौल को ख़ुशनुमा बनाने में अपना-अपना योगदान दें। 


अब आपको आज की पसंदीदा रचनाओं की ओर ले चलते हैं-     


बैरन सखियन, फगुआ गाये
बिरहन  मन झुलसायो.
धधक धधक, जर जियरा धनके
अंग रंग सनकायो.
जुलमी फागुन! पिया न आयो!




 पूरब दिशा से आयो फकीरो/ लाया तुमड़ि को बीज, तुम भी राग मनाओ
अब लागे तुमड़ी बोयण लागे/ बोये सकल खेत, तुम भी राग मनाओ
अब लागे तुमड़ी जामण लागे/जागे सकल खेत तुम फाग मनाओ
अब लागे तुमड़ी गोडण लागे/गोड़े सकल खेत तुम भी फाग मनाओ
अब लागे तुमड़ी फूलण लागे/फूल सकल खेत तुम भी फाग मनाओ 
अब लागे तुमणी काटण लागे/काटे सकल खेत तुम भी




जली होलिका जैसे उस दिन
जलें सभी संशय हर उर के,
शेष रहे प्रहलाद खुशी का
मिलन घटे उससे जी भर के !

होली.......श्वेता सिन्हा 



अमिया बौर की गंध मतायी
बड़ी नशीली भोर रे
कूहू विरह की पाती लिखे
छलकी अँखियाँ कोर रे
तन पिंजरा आकुल डोले
नाम जपे मन कीर-सा



गोकुल की गलियों में मची है धूम,
आसमां भी धरती को रहा है चूम।
भीनी-भीनी बहे फागुनी बयार,
मस्त-मस्त मौसम मन रहा है झूम।




अबीर-गुलाल है उड़ता
गोरी के गालों को रंगता
मारे भर-भर पिचकारी
भींगे चुनरिया सारी
रंगों में होकर सराबोर सब
नाचें मिलजुलकर सारे
खुशियों की धूम मची है
आई रे होली आई,आई रे होली
....
हम-क़दम का नया विषय

यहाँ देखिए

आज बस यहीं तक 
फिर मिलेंगे अगले गुरूवार। 

अख़बार में होली की ख़बरें ध्यान से पढ़ियेगा। 
होली !!!!!!!!!है!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!

रवीन्द्र सिंह यादव 

10 टिप्‍पणियां:

  1. सुप्रभातम्,
    होली है...आप सभी को रंगोत्सव की हारि शुभकामनाएँ।
    सुंदर,सारगर्भित,संदेशात्मक भूमिका और होली के खुशबूदार रंगों से पगी रचनाओं से सजी आज की प्रस्तुति बहुत अच्छी लगी रवींद्र जी।

    जवाब देंहटाएं
  2. व्वाहहह....
    बढ़िया...
    रंग-बिरंगी होली की ढेर सारी शुभकामनाएँ
    सादर...

    जवाब देंहटाएं
  3. होली.. तो
    आती है तो
    भेद-भाव भुला देती है
    शुभकामनाएँ होली की..
    सादर..

    जवाब देंहटाएं
  4. सस्नेहाशीष संग असीम शुभकामनाएं
    अति सुंदर संकलन

    जवाब देंहटाएं
  5. होली की सपरिवार शुभकामना।
    - पूनम और विश्वमोहन

    जवाब देंहटाएं
  6. रंग-बिरंगी होली शुभ हो..
    बेहतरीन प्रस्तुति...
    पुनः शुभकामनाएँ..
    सादर...

    जवाब देंहटाएं
  7. पांच लिंकों का आनंद परिवार को होली की हार्दिक शुभकामनाएं सभी के जीवन में मधु रस छलकता रहे।
    होली सी रंगारंग प्रस्तुति सुंदर मनोहर।
    सभी रचनाकारों को बधाई एवं अनंत शुभकामनाएं।

    जवाब देंहटाएं
  8. आपने काफी बढ़िया पोस्ट लिखी है आप एक बार हमारे ब्लॉग पर भी विजिट करें online hindi book
    Kya Hai Kaise

    जवाब देंहटाएं
  9. बहुत सुंदर प्रस्तुति मेरी रचना को स्थान देने के लिए बहुत बहुत आभार रवीन्द्र जी

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...