निवेदन।


फ़ॉलोअर

शनिवार, 16 नवंबर 2019

1583... हार


हार से रार, नहीं खाना खार सीखा,
उड़ना पर विरोध पर पर मार सीखा,
कामना भावना संग साधना साध लेना
भावार्थ तमाभार विजय वार सीखा

एक हार जो हर जीत से बड़ी है




कि उसका जीतना ,शायद उसे ही अच्छा न लगे ।
मेरी शिकस्त को सोंचकर उसकी आंखें भर जाएं
शायद कल उसको भी लगे कि निर्दोष था मैं,और
न ही कोई छल कपट किया था मैंने उसके साथ ।
हो सकता है तब वो मुझे माफ़ कर दे, उस ख़ता


हार पर कविता के लिए इमेज परिणाम

जीतना चाहता है हर शख्स यहां
न जाने किस बात से है मजबूर
भाग रहा है सफलता पाने को
पर मेहनत को न मंजूर
छूना चाहते हो आसमाँ त़ो
चखना हार का मजा जरुर

हार


याद जब आती है



बड़ी शिद्दत से चाहा था तुम्हे अपना बनाने को
मगर तूने कह दिया एक दिन मुझको भुलाने को
इक पल में वादे टूट जायेंगे किस्मत रूठ जायेगी
तुझे अपना बनाने कि वो हसरत छूट जायेगी
><
फिर मिलेंगे
><
विषय नम्बर पंचानवे
आहट
उदाहरणः

वह एक आहट थी
या तुम्हारा आगमन
मन में वासंती फूल
खिल-खिलकर
महक उठे थे
और
खो गई थी कहीं
गोकुल की गलियों में ।
कृति आभा पूर्वे

अंतिम तिथि- 16 नवम्बर 2019
शाम 3 बजे तक मेल द्वारा
प्रकाशन तिथि-18 नवम्बर 2019


15 टिप्‍पणियां:

  1. सादर नमन
    रार नहीं तकरार नहीं
    है तो सिर्फ प्यार ही प्यार
    सादर..

    जवाब देंहटाएं
  2. 'हार' शब्द पर रचित सुंदर रचनाओं का सराहनीय संकलन।

    सादर नमन आदरणीया दीदी।

    सभी चयनित रचनाकारों को बधाई एवं शुभकामनाएँ।


    हार कर भी जीत जाते हैं बाज़ीगर

    जीत कर भी संभाल नहीं पाते

    जीत की शुचिता महिमा गरिमा

    हार का हार भला कौन पहनता है

    हार तो सिक्के का दूसरा पहलू है

    हार को स्वीकारना फिर लक्ष्य साधना

    जीवटता यही तो कहती है हर बार।

    जवाब देंहटाएं
  3. बहुत सुंदर!
    शानदार विषय पर शानदार संकलन।
    सुंदर प्रस्तुति।

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत अच्छी हलचल प्रस्तुति

    जवाब देंहटाएं
  5. जी दी बेहद सराहनीय रचनाएँ हैं।
    उम्दा संकलन हमेशा की तरह।

    जवाब देंहटाएं
  6. एक से बढ़कर एक, सभी सृजकों को साधुवाद

    जवाब देंहटाएं
  7. माँ एक ऐसी इंसान होती है जो अपने बच्चे के सारे दर्द को खुद के अंदर समा लेती है। Mother Love Status Thank You Sir.

    जवाब देंहटाएं
  8. इस टिप्पणी को लेखक ने हटा दिया है.

    जवाब देंहटाएं
  9. इस टिप्पणी को लेखक ने हटा दिया है.

    जवाब देंहटाएं
  10. इस टिप्पणी को लेखक ने हटा दिया है.

    जवाब देंहटाएं
  11. bahut hi achcha dil ko chu gai https://www.gktoyou.com/

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...