निवेदन।


फ़ॉलोअर

मंगलवार, 9 मार्च 2021

2062...शाम का भूला, आखिर घर आ ही गया

सादर अभिवादन
आदत नहीं है भूलना
पर जो विधि ने लिखा हो
होकर ही रहता है
प्रस्तुत है ताबड़-तोड़ प्रस्तुति

8 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुंदर अंक दी।
    ताबड़-तोड़ प्रस्तुति भी बेजोड है।

    सादर।

    जवाब देंहटाएं
  2. बहुत सुंदर प्रस्तुति मुझे स्थान देने हेतु दिल से आभार।
    सादर

    जवाब देंहटाएं
  3. बहुत बढ़िया चयन । हो आये सब लिंक्स पर । दृष्टिकोण और युगपरिवर्तन विशेष पसंद आईं

    जवाब देंहटाएं
  4. सुप्रभात । आज के आनंद में प्रतिभागी बनाने के लिए सविनय हार्दिक आभार ।

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत सुंदर संकलन, बङी सखी ।
    जैसे कभी-कभी जल्दी में बनाया भोजन भी और दिनों से ज़्यादा अच्छा बन जाता है !
    प्रत्येक रचना थोङे में कह गई पते की बात ।
    साधुवाद । नमस्ते ।

    जवाब देंहटाएं
  6. आज ब्लॉग पर न जाने क्यों मेरे कमेंट नहीं हो रहे ।समझ नहीं आ रहा क्यों । नूपरं के ब्लॉग पर बहती नदी से संबंधित कमेंट किया था 😥😥 चलो फिर देखूँगी ।

    जवाब देंहटाएं
  7. बहुत अच्छी हलचल प्रस्तुति

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...