निवेदन।


फ़ॉलोअर

शनिवार, 17 दिसंबर 2016

519 .... आपदा




चित्र में ये शामिल हो सकता है: पाठ



सभी को यथायोग्य
प्रणामाशीष


लीले
आपदा
सनै सनै
दंड वरदा
बदहाल जीव
लहुलुहान चेन्नै
ना !
चारा
सम्पत्ति
परिवृत्ति
चले कुचाल
कर्म दिष्ट धारा
शक्ति फल विपत्ति



विभूति दुग्गड़ मुथा



न चाहते हुए भी धन जला रहे हैं लोग
नोटों की गड्डियां गंगा में बहा रहे हैं लोग

बदलाव भी चाहते हैं
और बदलना भी नहीं चाहते, ये कैसी चाहत है



को अहम्


वह बात जो छूटी है
वह लम्हा जो ठहरा है

एक लम्स जो बाक़ी है













तेरा वहम जायज है,
मेरे मन में चोर है.

मां की दुआएं साथ हैं,
उजाला चारों ओर है.






मैं कलकत्ता में हूँ


देश कतार में है


फिर मिलेंगे ..... तब तक के लिए

आखरी सलाम


विभा रानी श्रीवास्तव




7 टिप्‍पणियां:

  1. शुभ प्रभात दीदी
    सादर नमन
    हरदम की तरह एक
    अनूठा संकलन
    सादर

    जवाब देंहटाएं
  2. बहुत अच्छी हलचल प्रस्तुति ...

    जवाब देंहटाएं
  3. मेरी रचना "अभी मस्त चांदनी है" शामिल करने के लिए धन्यवाद विभा जी...

    जवाब देंहटाएं
  4. मेरी रचना "अभी मस्त चांदनी है" शामिल करने के लिए धन्यवाद विभा जी...

    जवाब देंहटाएं
  5. Railway Recruitment Board completed the Group D 2018-19 Examination procedure and those who were in search of their live available RRB Group D Result 2019 performance they should need to wait for few days because RRB all set to complete the checking process of Railway Group CEN 02/2018 Online Test.

    जवाब देंहटाएं
  6. I have read your article; it is very informative and helpful for me.....In "Sarkari jobs by company" segment, Candidates can use the best opportunity provided by Sarkari Job to find latest jobs listed by top 1000s plus companies registered under Govt sectors

    जवाब देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...