पाँच लिंकों का आनन्द

पाँच लिंकों का आनन्द

आनन्द के साथ-साथ उत्साह भी है...अब आप के और हमारे सहयोग से प्रतिदिन सज रही है पांच लिंकों का आनन्द की हलचल..... पांच रचनाओं के चयन के लिये आप सब की नयी पुरानी श्रेष्ठ रचनाएं आमंत्रित हैं। आप चाहें तो आप अन्य किसी रचनाकार की श्रेष्ठ रचना की जानकारी भी हमे दे सकते हैं। अन्य रचनाकारों से भी हमारा निवेदन है कि आप भी यहां चर्चाकार बनकर सब को आनंदित करें.... इस के लिये आप केवल इस ब्लॉग पर दिये संपर्क प्रारूप का प्रयोग करें। इस आशा के साथ। हम सब संस्थापक पांच लिंकों का आनंद। धन्यवाद एक और निवेदन आप सभी से आदरपूर्वक अनुरोध है कि 'पांच लिंकों का आनंद' के अगले विशेषांक हेतु अपनी अथवा अपने पसंद के किसी भी रचनाकार की रचनाओं का लिंक हमें आगामी रविवार तक प्रेषित करें। आप हमें ई -मेल इस पते पर करें dhruvsinghvns@gmail.com तो आइये एक कारवां बनायें। एक मंच,सशक्त मंच ! सादर

समर्थक

शनिवार, 29 जुलाई 2017

743... धनी



सभी को यथायोग्य
प्रणामाशीष


हमारे लिए गर्व की बात
विस्तार से अगले पोस्ट में


चित्र में ये शामिल हो सकता है: 8 लोग, लोग खड़े हैं





कभी कल कल करती सरिता,
या कभी गगन चुम्बी इमारतों से ये पेड़
कभी सीली ठंडी हवा
तो कभी हरियाली चरती हुई भेड।
यहीं आकर मिलता है
अनुभव धरती के स्वर्ग का
आकर यहीं होता है आभास
ईश्वर के अस्तित्व का




रम्भाती थी  गैया
सहसा तभी
डूब गयी
तैरती नैया




रफू से ऐब-ऐ-पैरहन दुनियां की निगाहों से छुप जाते हैं,
रिश्ते मगर रफू होते नहीं, हो भी जाएं तो बड़े सताते हैं




यह हर साल ब्रिटेन में 40 हजार और अमेरिका में दो लाख लोगों की
असमय मौत का कारण बनता है। लेकिन ज्यादातर लोगों को इसका
अंदाजा नहीं है कि छोटे घर के भीतर की प्रदूषित वायु भी
स्वास्थ्य को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकती है। घरेलू उपकरणों का असर 
: उन्होंने कहा, आजकल ज्यादातर घरों में गैस-चूल्हों का इस्तेमाल 
किया जाता है। घरों की साफ-सफाई के लिए 
रासायनिक स्वच्छता उत्पादों का प्रयोग होता है।




परमेश्वर धन के विरुद्ध नहीं है, क्योंकि उसने स्वयं ही कुछ को
उस से आशीषित किया है; परन्तु निश्चय ही वह धन के अनुचित संचय
और दुरुप्योग के विरुद्ध है। परमेश्वर नहीं चाहता है कि
धन के लोभ में पड़कर मसीही विश्वासी उसके मार्गों से
भटक जाएं। वह अपने अनुयायियों से चाहता है कि वे सच्ची
भक्ति के साथ उसके प्रति विश्वास योग्य बने रहें, और
वह उनकी सभी आवश्यकताओं को पूरा करता रहेगा। - लॉरेंस दरमानी


<><>

फिर मिलेंगे


11 टिप्‍पणियां:

  1. शुभ प्रभात दीदी
    सादर नमन
    अच्छी व पठनीय रचनाएँ
    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  2. शुभ प्रभात आदरणीय
    अच्छे लिंक संजोए हैं
    आपने
    आभार
    "एकलव्य''

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुंदर और पठनीय संकलन

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर हलचल प्रस्तुति ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. आज की प्रस्तुति मन को भा गयी।
    पटना की कवि-गोष्ठी सारगर्भित,आकर्षक और विचारणीय है।
    बिना किसी बिछावन के फर्श पर बैठे साहित्यकार और उत्सुक साहित्यप्रेमी.... बोलते चित्र !
    एक ओर जहाँ नई पीढ़ी मोबाइल के इस्तेमाल में
    दक्षता हासिल करती हुई अपना सृजन उसमें सहेज रही है
    वहीँ बुज़ुर्ग पीढ़ी का विश्वास अब भी अपनी डायरी में बसा हुआ है।
    कई अपरिचित ब्लॉग पढ़ने को मिले।
    आपका चयन सराहनीय और प्रेरक है।
    सभी चयनित रचनाकारों को शुभकामनाऐं और बधाई।
    आदरणीय विभा दीदी को सादर प्रणाम।
    आभार सादर।

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर कमाल की प्रस्तुति.

    उत्तर देंहटाएं
  7. आज की प्रस्तुति बहुत बढिया
    पटना की कवि-गोष्ठी सारगर्भित,आकर्षक
    सभी रचनाकारों को बधाई एवम् शुभकामना..

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुंदर सारगर्भित लिंकों का संयोजन मेरे लिए सारे अपठित लिंक थे आभार विभा जी सुंदर रचनाओं को पढ़वाने के लिए।

    उत्तर देंहटाएं
  9. एकदम अलग सी प्रस्तुति!धन्यवाद आदरणीय विभा जी ।

    उत्तर देंहटाएं

आभार। कृपया ब्लाग को फॉलो भी करें

आपकी टिप्पणियाँ एवं प्रतिक्रियाएँ हमारा उत्साह बढाती हैं और हमें बेहतर होने में मदद करती हैं !! आप से निवेदन है आप टिप्पणियों द्वारा दैनिक प्रस्तुति पर अपने विचार अवश्य व्यक्त करें।

टिप्पणीकारों से निवेदन

1. आज के प्रस्तुत अंक में पांचों रचनाएं आप को कैसी लगी? संबंधित ब्लॉगों पर टिप्पणी देकर भी रचनाकारों का मनोबल बढ़ाएं।
2. टिप्पणियां केवल प्रस्तुति पर या लिंक की गयी रचनाओं पर ही दें। सभ्य भाषा का प्रयोग करें . किसी की भावनाओं को आहत करने वाली भाषा का प्रयोग न करें।
३. प्रस्तुति पर अपनी वास्तविक राय प्रकट करें .
4. लिंक की गयी रचनाओं के विचार, रचनाकार के व्यक्तिगत विचार है, ये आवश्यक नहीं कि चर्चाकार, प्रबंधक या संचालक भी इस से सहमत हो।
प्रस्तुति पर आपकी अनुमोल समीक्षा व अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक आभार।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...